फेज, न्यूट्रल और अर्थिंग कैसे चेक करते हैं ? | How to check Phase, Neutral and Earthing? In Hindi

किसी भी इलेक्ट्रिकल उपकरण को चलाने के लिए एक फेज (Phase) और एक न्यूट्रल (Neutral) की जरूरत होती है। आपने अगर पढ़ा हो कि, इलेक्ट्रीशियन (Electrician) का काम करने के लिए बेसिक इलेक्ट्रिकल नॉलेज |

दोस्तों फेज (Phase), न्यूट्रल (Neutral) और अर्थिंग (Earthing) चेक करने के लिए आपके पास नीचे बताए गए Tools होने चाहिए।

  1. टेस्ट लैंप
  2. मल्टीमीटर
  3. नियॉन टेस्टर

स्विच बोर्ड में फेज (Phase) कैसे चेक करते हैं?

तो दोस्तों कोई भी इलेक्ट्रिकल का काम करते समय हमें पहले सप्लाय सोर्स से आने वाला फेज (Phase) को identify करना पड़ता है। आप इलेक्ट्रिकल का काम करते हैं। लेकिन कुछ जगहे ऐसी होती है कि वहां आप सप्लाय बंद करके काम नही कर सकते। तो ऐसी जगहों पर काम करने से पहले नियॉन टेस्टर से फेज (Phase) चेक करें। यह तो आप सभी करते होंगे। जिस वायर को टेस्टर लगाने से टेस्टर का लाइट जलने लगता है मतलब उस वायर में फेज (Phase) आ रहा है।phase check with neon tester

चालू लाइन पर काम करते समय सबसे महत्वपूर्ण नियम हमेशा याद रखें।

  • दोस्तों ध्यान रहे हमेशा फेज (Phase) वायर के सीधे संपर्क में अपना कोई भी बॉडी पार्ट न आने दे। electric shock लग सकता है। हमेशा मेन सप्लाय बंद करके ही कोई भी काम करें। (अगर आप इलेक्ट्रिकल का काम करने के लिए बिल्कुल नए हैं तो, चालू लाइन में काम बिल्कुल न करें। )
  • कोई भी तार एक दूसरे से सीधे संपर्क में न आए ऐसा होने से शार्ट सर्किट हो सकता है।
  • अगर ऊपर बताई गई दो बातों पर आप बंद लाइन में काम करते समय भी अमल करेंगे तो मेरे अनुभव से कहना चाहूंगा कि आप बहुत ही जल्दी चालू लाइन में काम करने में expert हो जाएंगे।

स्विच बोर्ड में न्यूट्रल (Neutral) कैसे चेक करते हैं?| न्यूट्रल (Neutral) चेक करने के 3 तरीके

दोस्तों नियॉन टेस्टर न्यूट्रल (Neutral) में सामान्य स्थिति में कभी नही जलता। इसलिए न्यूट्रल (Neutral) चेक करने के लिए टेस्टर सही टूल नही है। न्यूट्रल (Neutral) चेक करने का सही टूल है, टेस्ट लैंप या मल्टीमीटर. दोस्तों टेस्ट लैंप और मल्टीमीटर से न्युट्रल चेक करना तो मैं आपको सिखाऊंगा लेकिन एक और तरीका और है जिससे न्यूट्रल (Neutral) चेक कर सकते है जो शायद ही किसीने आपको बताया होगा।

पहले हम देखते हैं कि,

टेस्ट लैंप (Test Lamp) से न्यूट्रल (Neutral) कैसे चेक करते हैं?

टेस्टर से फेज (Phase) identify कर लेने के बाद टेस्ट लैंप की किसी भी एक वायर का सिरा फेज (Phase) पॉइंट से टच करें। और उसी समय टेस्ट लैंप की वायर का दूसरा सिरा उस पॉइंट पर टच करें, जो कि आपको लगता है न्यूट्रल (Neutral) हो सकती है। वायर टच करने से टेस्ट लैंप का बल्ब न जले तो स्विच बोर्ड का कोई और पॉइंट चेक करें। ऐसा करते करते आपके टेस्ट लम्प का बल्ब जिस पॉइंट को टच करते ही ब्लो हो जाये मतलब जल जाए। वह पॉइंट न्यूट्रल (Neutral) या अर्थिंग (Earthing) इन दोनों मेसे एक होगा। अगर स्विच बोर्ड में अर्थिंग (Earthing) का कनेक्शन किया गया हो तो। अगर अर्थिंग (Earthing) का कनेक्शन नही किया हो तो जिस पॉइंट को टच करतेहै बल्ब ब्लो हो रहा हो वह पॉइंट 100% न्यूट्रल (Neutral) होगा।

वायर न्यूट्रल (Neutral) है या आर्थिंग कैसे पहचाने?

मल्टी मीटर से न्यूट्रल (Neutral) कैसे चेक करें?

दोस्तों अगर आप कम समय मे और कम मेहनत करके इलेक्ट्रिकल काम करके पैसा कमाना चाहते हैं। तो आपके पास एक मल्टीमीटर अवश्य होना चाहिए।

अगर आप मल्टीमीटर चलना जनते हैं। तो ठीक है अगर मल्टीमीटर चलना नही जानते तो कमेंट करें। 

मल्टीमिटर कैसे चलते हैं? इसके बारे मे एक डिटेल्ड पोस्ट आपके लिए उपलब्ध होगी। औऱ मल्टीमीटर कैसे चलते हैं? इसका एक वीडियो भी हमारे YouTube Channel होगा।

आपके पास कोई भी मल्टीमीटर हो तो आप उसमें AC Voltage सेलेक्ट करें।

जैसा कि टेस्ट लैंप से न्यूट्रल (Neutral) किसे चेक करते हैं? ठीक उसी तरह मल्टीमीटर की 2 वायर्स से स्विच बोर्ड की wires चेक करें। मल्टीमीटर की लाल वायर हमेशा फेज (Phase) में लगाए। अगर काली वायर फेज (Phase) में लगी तो डिस्प्ले पर दिखने वाला वोल्टेज मयनस में दिखेगा.

टेस्ट लैंप और मल्टीमीटर में बस फर्क इतनाही होगा कि, फेज (Phase) और न्यूट्रल (Neutral)/अर्थिंग (Earthing) में बल्ब जलता है। और मल्टीमीटर से फेज (Phase) और न्युट्रल/अर्थिंग (Earthing) चेक करने पर मल्टीमीटर के डिस्प्ले पर 200 वोल्ट से 230 वोल्ट के बीच वोल्टेज शो होगा।

वायर न्यूट्रल (Neutral) है या आर्थिंग कैसे पहचाने?

नियॉन टेस्टर से न्यूट्रल (Neutral) कैसे चेक कर सकते हैं?

यह तरीका काश ही जो  किसीने बताया होगा। यह तरीका तभी इस्तेमाल करें जब आपके पास टेस्ट लैंप या मल्टीमीटर न हो। नीचे बताया गया चित्र देखें।

  1. जिस तरह हम नियॉन टेस्टर से फेज (Phase) चेक करते हैं। उस तरह फेज (Phase) चेक करें।
  2. फेज (Phase) identify होने के बाद एक वायर का टुकड़ा लें। उस वायर के टुकड़े के दोनों सिरों का इंसुलेशन निकल ले।
  3. एक सिरे के तार नियोन टेस्टर के ऊपरी तरफ जैसा कि दिखाया गया है, उस तरह लगाए।
  4. पहले हमने आपको  जिस तरह टेस्ट लैंप और मल्टीमीटर से न्यूट्रल (Neutral) चेक करना बताया है, बस उसी तरह से टेस्ट करें।
  5. टेस्टर का टिप फेज (Phase) से टच करकर वायर का टुकड़ा जो टेस्टरर से जुड़ा हुआ है। उसके दूसरे सिरे को उस पॉइंट से टच करें, जो आपको लगता है कि वह न्यूट्रल (Neutral) हो सकता है। ( ध्यान रहे यह क्रिया करते समय वायर के कंडक्टर को या टेस्टर के ऊपरी सिरे को न छुए।)
  6. वायर का सिरा जिस पॉइंट से टच करने पर टेस्टर जलता है। समझिए वह न्यूट्रल (Neutral) या अर्थिंग (Earthing) है।
  7. अगर स्विच बोर्ड में अर्थिंग (Earthing) का कनेक्शन न किया हो, तो जिस पॉइंट को टच करते ही टेस्टर ब्लो हो रहा हो वह पॉइंट 100% न्यूट्रल (Neutral) होगा।

वायर न्यूट्रल (Neutral) है या आर्थिंग कैसे पहचाने?

ऊपर बताए गए तीनो तरीकों से न्युट्रल और अर्थिंग (Earthing) दो वायर्स तो समझ मे आ गई। लेकिन असल मे न्युट्रल कोनसी है और अर्थिंग (Earthing) कोनसी है यह कैसे पता करते हैं। देखते हैं।

अगर आप किसी स्विच बोर्ड में ऊपर बताए गए टेस्ट्स कर रहे हैं, जिसमे 3 pin  Socket लगा हो। तो आपको न्युट्रल और अर्थिंग (Earthing) पहचानने में आसानी होगी।

3 Pin Socket में फेज (Phase) न्युट्रल अर्थिंग (Earthing) कैसे पहचाने?

3 pin  Socket में ऊपर का बड़ा टर्मिनल यह हमेशा अर्थिंग (Earthing) कनेक्शन के लिए इस्तेमाल होता है। स्विच बोर्ड में एक अर्थिंग (Earthing) वायर की लूपिंग अगर आप ध्यान से देखेंगे तो आपको समझ आएगा कि अर्थिंग (Earthing) वायर कोनसी है, और वह वायर स्विच बोर्ड में कहां कहां तक फैली है।

3 pin socket में जो फेज (Phase) के साथ वाला टर्मिनल होता है वह न्युट्रल टर्मिनल होता है।

दोस्तों Electric Switch Board का काम करते समय आप हमेशा याद रखे कि, फेज (Phase) हमेशा Right Side में हो जैसा कि चित्र में दिखाया गया है। Socket में न्यूट्रल (Neutral) चेक करते समय आपको कई जगहों पर यह कनेक्शन उल्टा मिलेगा। फेज (Phase) की जगह न्युट्रल और न्युट्रल की जगह फेज (Phase)। यह उस  इलेक्ट्रीशियन की जानकारी के अभाव के कारण हो सकता है, जिसने यह कनेक्शन शुरुवात में किया हो। और एक कारण यह भी हो सकता है कि फेज (Phase) और न्युट्रल अल्टरनेट हो।

फेज (Phase) न्युट्रल का अल्टरनेट होना किसे कहते है?

स्विच बोर्ड में आने वाली मेन फेज (Phase) वायर और न्यूट्रल (Neutral) वायर सप्लाय सोर्स से मतलब की बिजली प्रदान करने वाली कंपनी के पोल से या उस जगह के MCB, Distribution Box जहां यह स्विच बोर्ड हो वहां से अदली बदली हुई हों। मतलब फेज (Phase) की जगह न्युट्रल और न्युट्रल की जगह फेज (Phase) का होना । फेज (Phase) और न्युट्रल के इस तरह से बदलने को ही इलेक्ट्रिकल भाषा मे फेज (Phase) और न्युट्रल अल्टरनेट होना कहा जाता है।

आगर आपको कन्फ्यूजन है कि,

न्यूट्रल (Neutral) और अर्थिंग (Earthing) वायर कौनसी है? तो आप नीचे बताए गए कर्म से चेक करें।

  1. उस Switch Board में आने वाले फेज (Phase) और न्यूट्रल (Neutral) के सोर्स का पता लगाएं। मतलब वहां का मेन स्विच , या Main 2 Pole MCB,
  2. में सोर्स पता करने के बाद मेन स्विच या Main MCB OFF कर दें।
  3. मेन स्विच बंद करने कर बाद स्विच के चारों टर्मिनल्स चेक करें। ऊपर या नीचे जहां आपको फेज (Phase) दिखे समझिए वहां के दो पॉइंट्स पर इनकमिंग सप्लाई के है। इसी तरह MCB के चारों टर्मिनल्स चेक करें और इनकमिंग टर्मिनल्स का पता लगाएं।
  4. जो दो पॉइंट इनकमिंग के बिल्कुल विपरीत हो वह आउटगोइंग सप्लाय के लिए होते हैं। अब आप आप मेन स्विच या MCB ON करें। इनकमिंग फेज (Phase) के विपरीत जो टर्मिनल है। उसमें अगर फेज (Phase) आये और MCB फिर से बंद करने पर वहाँ फेज (Phase) न आये तो समझिए कि वही टर्मिनल आउटगोइंग फेज (Phase) का है।
  5. आउटगोइंग फेज (Phase) के बगल का टर्मिनल यह न्युट्रल आउटगोइंग टर्मिनल होगा।
  6. न्युट्रल टर्मिनल में से स्विच बोर्ड में जाने वाली न्युट्रल वायर को मेन स्विच या mcb बंद करके निकाल ले और वह वायर कहीं टच न हो ऐसी जगह पर रखें और उसे स्पर्श न करें।
  7. अब आप में स्विच या MCB ON कर दें। इससे होगा यह कि स्विच बोर्ड में सिर्फ फेज (Phase) ही पहुंचेगा न्युट्रल नही पहुंचेगा।
  8. और अब आप फेज (Phase) और अर्थिंग (Earthing) चेक कर सकते हैं। अर्थिंग (Earthing) का पता चलने के बाद आप अर्थिंग (Earthing) वायर को ध्यान में रखें।
  9. में स्विच बंद करने के बाद न्युट्रल फिर से आउटगोइंग टर्मिनल से जोड़ दें।
  10. मेन स्विच ON करके फिर से न्युट्रल चेक सकते हैं। अब आपको अर्थिंग (Earthing) पता है। और अब न्युट्रल भी पता चल जाएगी।
%d bloggers like this: